सरकारी नौकरी

यहां अगर नहीं दिखे महिला के स्तन तो देना होगा टैक्स!


हमारे समाज में महिलाएं घर की चार दीवारी तक ही सिमित रहती है। आज फिर भी महिलाएं पुरुषों से \कदम मिलाने लगी है। हमारे इस पुरुष प्रधान समाज में हमेशा से हीं महिलाओं को कई तरह की कुप्रथाओं का शिकार होना पड़ता रहा है।

महिलाएं नहीं ढक सकती अपने स्तन:

वो 19वीं सदी के दौर में था. उस दौरान दक्षिण भारत में महिलाओं के स्तन ढकने पर पाबंदी थी। इस प्रथा से बाहर निकलने के लिए स्त्रियों को काफी कड़े संघर्ष से गुजरना पड़ा था। यहां की महिलाएं भी काफी शिक्षित होती हैं। 

भरना पड़ता था ब्रेस्ट टैक्स:

उस दौरान गौर करने वाली बात थी, कि ब्राह्मण, क्षत्रिय, नम्बोदिरी और नैय्यर जाति की औरतों को घर से बाहर निकलने पर अपने शरीर के ऊपर के हिस्से को ढक कर चलने की इजाजत थी। लेकिन दलित महिलाएं अगर अपने शरीर के ऊपरी हिस्से को ढक कर चलती थीं तो उन्हें यहां ‘Mulakkaram’ नाम का ब्रेस्ट टैक्स भरना पड़ता था। 

No comments