सरकारी नौकरी

बीन की धुन पर क्यों नाचते हैं साँप, जानें ये राज


हमारे जीवन में कई ऐसी अजीबोगरीब बातें होती है लेकिन हम उन्हें सामान्य समझ कर छोड़ देते है बल्कि हमें उसके बारें में मालूम नहीं होता है। बीन की धुन पर सपेरे द्वारा सांप को नचाते तो आपने देखा ही होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सांप के कान नहीं होते? फिर भी वह ऐसा क्यों करता है। 

बीन की धुन पर क्यों नाचते हैं साँप:

सांप हवा में मौजूद ध्वनि तरंगों पर रिएक्शन नहीं देते, बल्कि धरती से निकलने वाले कंपन यानि वाइब्रेशंस को अपने जबड़े में पाई जाने वाली एक ख़ास हड्डी के ज़रिये महसूस करते हैं। सांप केवल हिलती-ढुलती चीजों को साफ़ देख पाते हैं। इसिलए सपेरा जब बीन को बजाते हुए उसे इधर-उधर करता है, तो बीन के साथ-साथ सांप भी हिलता-ढुलता है और लोग यह समझते हैं कि सांप बीन की धुन पर नाच रहा है।

थर्मस में तापमान सामान क्यों बना रहता है:

थर्मस फ्लास्क में तापमान या टेम्परेचर लंबे समय तक एक समान बना रहता है। ऐसा उसकी बनावट के कारण होता है, क्योंकि थर्मस में दो सतहें होती हैं और इसकी दीवारों के बीच को हवा रहित कर दिया जाता है। साथ ही उनपर चांदी की एक लेयर चढ़ा दी जाती है। इसके अलावा थर्मस के मुह को बंद करने के लिए हवा को ब्लॉक कर सकें ऐसे ढक्कन का इस्तेमाल किया जाता है ताकि गर्मी बाहर न आ सके।

No comments