सरकारी नौकरी

क्या आप जानते है गिलहरी की पीठ पर धारियों का कारण, जानकर हो जायेंगे हैरान !


आप लोगो ने गिलहरी तो देखी होगी, क्या आपने कभी सोचा है की गिलहरी की पीठ पर जो निशान होते है वो किसलिए है और यह निशान कैसे पड़ा। आज हम आपको बताते है की गिलहरी की पीठ पर यह निशान भगवान श्रीराम के द्वारा दिए गए निशान है।


ऐसे बने निशान :

# जब रामजी को 14 वर्ष का वनवास मिला था तब भगवान राम ने लंका पर आक्रमण करने के लिए छोटे से लेकर बड़े जानवरो के सहयोग से समुद्र में पुल बनाने का काम शुरू किया। गिलहरी भी पेड़ से नीचे उतर कर उनकी मदद करने के लिए आ गयी। वह गिलहरी समुद्र के पानी में डुबकी लगाती और अपने रोयेंदार शरीर में बालू और पत्थरों के कणों को चिपका कर ले आती और फिर पुल पर जाकर अपने शरीर को जोर-जोर से हिलाती ताकि जो बालू उसके शरीर में चिपकी है, वह पुल पर गिर जाए और पुल मजबूत हो जाए। गिलहरी का यह काम देखकर भगवान श्रीराम की प्रसन्नता का ठिकाना नहीं रहा। जब भगवान श्रीराम ने उस गिलहरी को सहलाया तो उनकी उंगलियों के निशान धारी के रुप में उसकी पीठ पर बन गए और आज तक बने हुए हैं।


No comments