सरकारी नौकरी

वैवाहिक जीवन में रहता है तनाव तो शयनकक्ष में करें ये काम


अक्सर शयनकक्ष व्यक्ति के वैवाहिक जीवन के लिए भी महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि यही वह स्थान होता है, जहां वह अपने जीवनसाथी के साथ प्रेम के रिश्तों को उसके अंजाम तक पहुंचाता है। वास्तु शास्त्र में व्यक्ति के शयनकक्ष से सम्बंधित कुछ विशेष बातें बताई गई हैं, जिन्हें व्यक्ति को इनका विशेष ध्यान रखना चाहिए।

# शयनकक्ष में वास बेसिन का होना वैवाहिक जीवन में विश्वास को ख़त्म करता है और दोनों के बीच में शक की भावना उत्पन्न करता है, जिससे आपके रिश्तों में दूरियां बढ़ती हैं।

# व्यक्ति को अपने शयनकक्ष में किसी भी बाहरी व्यक्ति या रिश्तेदारों को नहीं लेकर जाना चाहिए। इससे आपके शयनकक्ष में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है, जो आपके रिश्तों में दूरियां उत्पन्न करती हैं।

# व्यक्ति को अपने शयनकक्ष में दर्पण नहीं लगाना चाहिए और यदि लगाते भी हैं, तो इसे ऐसे स्थान पर लगाएं की बिस्तर से आपका चेहरा इस दर्पण में नजर न आये। इससे आपके अंदर नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव अधिक बढ़ जाता है, जो आपके वैवाहिक रिश्ते खराब कर सकता है।

# यदि आपके शयनकक्ष में पलंग की जगह दीवान या पलंग पेटी रखी है, तो कभी भी इसके अंदर कचरे व बिजली के उपकरण नहीं रखना चाहिए। इससे आपके वैवाहिक रिश्तों में तनाव उत्पन्न होता है।

No comments