सरकारी नौकरी

चीन के बाद भारत बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल फोन निर्माता देश


आजकल हर इंसान मोबाइल के बिना अधूरा सा रहता है। मोबाइल फोन प्रोडक्शन के मामले में भारत चीन के बाद दुसरे पायदान पर आ गया है। इस बात की जानकारी सोमवार को इंडियन सेलुलर एसोसिएशन और केंद्रीय दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा व आईटी मंत्री रवि शंकर प्रसाद की मौजूदगी में दी गई।

भारत बना दूसरा मोबाइल निर्माता देश:

इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए ICA के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज मोहिन्द्रो ने कहा कि, "हमें इस बात को बताने में लेकर खुशी हो रही है कि भारत सरकार, ICA और FTTF के बेहतरीन प्रयासों के साथ, भारत अब मोबाइल हैंडसेट का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है।"

ये है आंकड़े:

ICA ने इस बात की पुष्टि बाजार अनुसंधान फर्म IHS, चीन के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो और वियतनाम जनरल सांख्यिकी कार्यालय से उपलब्ध कराये गए आंकड़ों के आधार पर की है। ICA के मुताबिक, भारत में मोबाइल फोन का वार्षिक प्रोडक्शन साल 2017 में 3 मिलियन यूनिट से बढ़कर 11 मिलियन यूनिट पहुँच गया। इसी के साथ भारत ने वियतनाम को पीछे कर इस मामले में दूसरा स्थान प्राप्त कर लिया।

2019 का लक्ष्य:

इलेक्ट्रानिक्स और आईटी मंत्रालय के अधीन एक फास्ट ट्रैक टास्क फोर्स ने 2019 तक भारत में लगभग 500 मिलियन मोबाइल फोन के उत्पादन करने लक्ष्य रखा है। इस प्रोजेक्ट में ख़राब 46 अरब डॉलर की लागत आने की उम्मीद जताई गई है।

No comments