सरकारी नौकरी

यौन संबंध: पिल्‍स से लाख गुना बेहतर हैं ये प्राकृतिक गर्भनिरोधक


एक लड़की का मां बनना उसके लिए संसार का सबसे बड़ा अनुभव है। लेकिन किन्‍हीं कारणों से आप अगर अभी मां नहीं बनना चाहतीं और बार-बार गर्भनिरोधक गोलियां भी नहीं खाना चाहतीं तो इन प्राकृतिक गर्भनिरोधक फलों की मदद ले सकती हैं। पिल्स के ज्यादा सेवन से बाद में गर्भधारण में समस्या आ सकती है पिल्स के ज्यादा सेवन से बाद में गर्भधारण में समस्या आ सकती है।

ये है कुछ प्राकृतिक गर्भनिरोधक:

वैसे कुछ प्राकृतिक गर्भनिरोधक भी बताए जाते हैं जिनके बारे में कहा जाता है कि ये पिल्‍स से कहीं ज्‍यादा कारगर हैं। लेकिन इनको मानने से पहले आप डॉक्टर से सलाह जरूर लें। 

# पपीता: आपने अक्‍सर डॉक्‍टर्स और बड़े बुजुर्गों से सुना होगा कि प्रेग्‍नेंसी में पपीता नहीं खाना चाहिए। खासतौर से शुरुआती तीन महीनों में तो बिल्‍कुल नहीं। इसे खाने से गर्भ रुकता नहीं है।


# अनानास: प्रेग्‍नेंसी में अनानास खाने की भी मनाही होती है. इसमें कुछ ऐसे तत्‍व पाए जाते हैं, जिनकी वजह से यह प्राकृतिक गर्भनिरोधक का काम करता है।

# कच्‍चा दूध: कच्‍चा दूध भी गर्भनिरोधक दवाओं का काम करता है। आप इसे सोने से पहले या सुबह-सुबह पी लें।


# मछली: प्रेग्‍नेंसी में मछली खासतौर से मरकरी वाली जैसे कि स्‍वॉर्डफिश खाने की मनाही होती है। कहा जाता है कि इसमें पाई जाने वाली मरकरी गर्भनिरोधक का काम करती है।

No comments