सरकारी नौकरी

क्या डिलीवरी के बाद भी होता है कमर में दर्द, अपनाएं ये उपाय


अक्सर डिलिवरी के बाद भी महिलाओ को कई समस्या का सामना करना पड़ता है। गर्भावस्था के दौरान शरीर में हार्मोन परिवर्तन होता है जिसके कारण शरीर में काफी बदलाव होते हैं और कुछ बदलाव प्रसव के बाद भी होता है जिसके कारण महिला को कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जिसमे से एक समस्या है पीठ दर्द। अगर आपको भी ऐसी परेशानी होती है तो आइये जाने इस समस्या से कैसे छुटकारा पा सकते है। 

पीठ दर्द का कारण 

# प्रसव के बाद शरीर में बहुत अधिक परिवर्तन होता है जिसके कारण पीठ के निचले हिस्‍से में दर्द होने लगता है।

# गर्भावस्था के दौरान गर्भाशय बड़ा हो जाता है साथ ही पेट की मांसपेशियों में तनाव के कारण वह कमजोर हो जाती है जिससे नसों पर दबाव पड़ता हैं और पीठ के दर्द होने लगता है।

# गर्भावस्था क दौरान महिला का वजन बढ़ता है जिसे कारण मांसपेशियों और जोड़ों पर काफी दबाव पड़ता है जिससे पीठ का दर्द होने लगता है।

प्रसव के बाद पीठ दर्द का इलाज

# यह ध्यान रखे की जब भी बच्चे को दूध पिलाएं पीठ को सीधा रखे या पीठ के पीछे तकिया रखे। इस पीठ दर्द से बचने के लिए हल्का-हल्का व्यायाम जरूर करे।

# महिलाओं को आहार में अधिक ध्यान देना चाहिए। पौष्टिक आहार का सेवन करे जिससे आपको प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फाइबर की भरपूर मात्रा में मिल सके।   

# जब भी जमीन से कुछ उढ़ाये या झुके तो घुटनों के बल ही झुके और हमेशा कोशिश करे की झटके से न बैठे, क्‍योंकि इससे आपकी पीठ पर जोर पड़ता है। मालिश करवाते रहे इससे काफी राहत मिलती है।

No comments