सरकारी नौकरी

loading...

अगर आप भी लगातार हाई हील पहनती हैं तो जानिए कैसी समस्याएं हो सकती हैं!


हाई हील पहनने से शरीर को होने वाले ख़तरे“ शायद इस वाक्य को महिलाएं गम्भीरता से न लें। यह इसलिए, क्योंकि हाई हील महिलाओं के फुटवियर का एक अहम हिस्सा है। अलग-अलग मौकों और ज़रुरत के अनुसार महिलाएं हील की चप्पल, सैंडल और जुतियां पहनती हैं। हालांकि, हील पहनने से पैरो समेत शरीर के कई अंगो पर क्या असर पड़ता है या उन्हें क्या समस्याएं हो सकती हैं, इसके बारे में महिलाओं को जानकारी नहीं होती। इस बात को अब डॉक्टर भी मानते हैं कि हील के नियमित प्रयोग से महिलाओं को घुटनों की समस्या समेत अनेकों प्रकार की समस्याएं होनी शुरू हो जाती है....

# पैर में समस्याएं
व्यक्ति के पैरों की बनावट शरीर का भार सहने और उन्हें खड़ा रखने के हिसाब से बनाई गई है। पैर पूरे शरीर को संतुलित रखते हैं। पैरों की मदद से चलने, दौड़ने, उचकने आदि कामो में हड्डी के ढाँचे (कंकाल) को झटके झेलने और संतुलन बनाए रखने में मदद मिलती है। जितनी लंबी हील होती है, पैरों पर उतना ही दबाव पड़ता है। उदाहरण के तौर पर; 4 इंच की हील पैर के अगले हिस्से पर शरीर के वज़न का 30% से अधिक दबाव डालती है। नियमित रूप से हील पहनने से, पैर को टेढ़ी स्थिति में रखना पड़ता है जिससे पैरों की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। यहाँ तक कि इससे नाखूनों की बनावट भी बिगड़ने का डर रहता है।

# टखने और पिंडलियां में समस्याएं
हील पहनने की वजह से पैर अपनी प्राकृतिक स्थिति से कहीं अधिक कोण पर मुड़ जाते हैं। इस कारण पैरों और आस-पास के अंगो में रक्त संचार कम हो जाता है। लंबे समय तक हील पहनने से यह दबाव खून का सचार लगभग पूरी तरह रोक देता है, जिससे वहां मौजूद स्पेल स्पाइडर नसें क्षतिग्रस्त हो सकती हैं। हील पहन कर अधिक समय तक चलने से एचिलिस टैंडन पर जोर पड़ता है जिस से वह कड़ी हो सकती हैं।

# घुटने में समस्याएं
इंसान के शरीर में उसके घुटने सबसे बड़े जोड़ होते हैं। किसी शारीरिक काम में यह झुक कर एक शॉक एब्जॉर्बर (झटका सहन करने वाले) स्प्रिंग की तरह काम करते हैं। हाई हील से घुटनो पर अंदर की तरफ दबाव पड़ता है। अगर ऐसा लगातार होता रहे तो घुटनो को होने वाला नुक्सान ठीक नहीं किया जा सकता।

# कूल्हे और कमर में समस्याएं
हाई हील पहनने से महिला के कूल्हे और कमर पर अप्राकृतिक जोर पड़ता है। साथ ही हील पहनी महिला को एक ख़ास पोज़ में खड़ा रहना या चलना पड़ता है, जिनसे स्थाई कमर दर्द की समस्या हो सकती है।

No comments