सरकारी नौकरी

यहां भगवान को चढ़ाई जाती है देसी दारू, पुजारी नहीं हो सकता है कोई ब्राह्मण


हमारे देश में कई ऐसे मंदिर मौजूद है जहां पर भगवान को शराब का भोग लगाया जाता हैं और लोग मानते है कि भगवान उनका ये प्रसाद ग्रहण करते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर भगवान को देसी शराब चढ़ाई जाती हैं।

भगवान को चढ़ाई जाती है देसी दारू:

आज हम आपको जिस मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं वो मंदिर झारखंड के दुमका में स्थित है, इस मंदिर की खास बात ये है कि जब भक्तों की मन्नत पूरी हो जाती है तो यहां चढ़ावे में सोने-चांदी के जेवर या पैसे नहीं चढ़ाए जाते बल्कि देसी शराब चढ़ाई जाती है। 

ब्राह्मण नहीं करता है पूजा:

इस मंदिर का पुजारी कोई ब्राह्मण नहीं होता बल्कि घटवाल समुदाय के लोग ही इस मंदिर में पुजारी बनकर पूजा कराते हैं । बताया जाता है कि इस मंदिर में मन्नत पूरी होने पर बाबा को महुआ से तैयार देसी दारू और पाठा भी भेंट दी जाती है।

No comments