सरकारी नौकरी

loading...

राजस्थान में यहां होली पर नहीं मनाई जाती है खुशियाँ बल्कि होता है मातम !!


होली रंगों और खुशियों का दिन है लेकिन राजस्थान में ही एक ऐसी जगह है जहां मातम मनता है। आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर होली के दिन मातम मनाया जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह सब राजस्थान में ही होता है।

यहां होली पर होता है मातम:

राजस्थान के पुष्करणा ब्राह्मण समाज के चोवटिया जोशी जाति के लोग होली के मौके पर खुश होने की जगह शोक मनाते हैं। होलाष्टक से होली तक की अवधि में ये लोग अपने घरों में चूल्हा भी नहीं जलाते हैं। र‌िश्तेदारों के यहां से खाना-पीना आता है। 

वजह जानकर उड़ जायेंगे होश:

इनका ऐसा करने के पिछे कारण यह है कि, सालों पहले इस जनजाति की एक म‌ह‌िला अपने बेटे को गोदी में लेकर होल‌िका की पर‌िक्रमा कर रही थी जिसके बाद में वो बच्चा उस महिला की गोद से उछलकर होलिका की आग में गिर गया। अपने बच्चे की रक्षा करने के लिए मां भी अग्नि में कूद गई और दोनों की मौत हो गई। 

उस महिला का मरते समय अंतिम वाक्य था क‌ि अब से होल‌ी पर कोई जश्न नहीं मनाया जाएगा। जिसके बाद से यहां पर यह परंपरा आज भी निभाई जा रही है।

No comments