सरकारी नौकरी

राज: सिख धर्म में लड़के नाम के पीछे ‘सिंह’ और लड़कियां क्यों लगाती हैं ‘कौर’ ??


भारत धर्म निरपेक्ष देश है यहां कई धर्मो को मानने वाले लोग रहते हैं जिसमें हिंदू, मुस्लिम, सिख आदि है। मगर क्या आप जानते हैं कि सिख धर्म में लड़के अपने नाम के पिछे सिंह और लड़कियां अपने नाम के पीछे कौर क्यों लगाती हैं तो चलिए आज हम आपको इसके बारे में बता दें। 

लड़के ‘सिंह’ और लड़कियां क्यों लगाती हैं ‘कौर':

इस धर्म में ये ऐसा माना जाता है कि सन 1699 के आस-पास के समाज में जाति प्रथा प्रचलित थी । जातिवाद को लेकर सिख धर्म के दसवें नानक ‘गुरु गोबिंद सिंह जी’ बहुत चिंतित रहा करते थे और वो इस प्रथा को पूरी तरह से समाप्त करना चाहते थे। 

इस वजह से उन्होंने सन 1699 में बैसाखी का त्यौहार मनाया । उस दिन उन्होंने अपने सभी अनुयायियों को एक ही सरनेम रखने का आदेश दिया। जिससे जातिवाद पूरी तरह से समाप्त हो जाए । यही कारण था कि गुरु गोबिंद जी ने मर्दों को सिंह तथा औरतों को कौर के सरनेम से सम्मानित किया।

No comments