सरकारी नौकरी

loading...

पुरुषों से ज्यादा Depression की शिकार हैं भारतीय महिलाएं, जानिए कारण और उपाय



आजकल हर इंसान को कोई ना कोई परेशानी होती है। डिप्रेशन (अवसाद) यानि मानसिक तनाव ऐसी समस्‍या है जिसके बारे में कोई बात नहीं करता और यही इसके समाधान में सबसे बड़ी बाधा है। डिप्रेशन आज पूरी दुनिया के लिए चिंता का कारण बना हुआ है। बिजी शेड्यूल और तनावभरी जिंदगी के कारण आज दुनियाभर में 30 लाख लोग डिप्रेशन के शिकार हैं।

महिलाओं को है ज्यादा खतरा

शोध के मुताबिक, महिलाओं के डिप्रेशन की चपेट में आने का खतरा पुरुषों के मुकाबले कहीं ज्यादा होता है। पुरुषों के मुकाबलें महिलाओं में डिप्रेशन की समस्या 20% ज्यादा है, जिसका सबसे मुख्य कारण दोहरी जिंदगी जीना है। इसके आलवा हार्मोनल बदलाव, सिगरेट या शराब, फोन का ज्यादा इस्तेमाल भी आपको डिप्रेशन का शिकार बना सकता है।

शोध के मुताबिक, समाज का बदलता दौर, तनाव, बच्चों की पढ़ाई, प्रतिस्पर्धा, पारिवारिक समस्याएं आदि अवसाद की मुख्य वजह माने जाते हैं। 

महिलाओं में यह समस्या घर और ऑफिस की भागदौड़ संभालने की चक्कर में होती है। काम के चक्कर में वह खुद को समय नहीं देती और तनाव के कारण धीरे-धीरे डिप्रेशन की चपेट में आ जाती है।

डिप्रेशन से बचने के कुछ उपाय

# अवसाद से बचने के लिए योग एक सही तरीका है। बहुत से ऐसे शोध हुए हैं, जिनमें पाया गया है कि योग से निरोग हुआ जा सकता है।

# अपने परिवार व दोस्तों के  साथ ज्यादा समय बिताने की कोशिश करें। अपने दोस्तों से मिलें, घूमने जाएं।

# रोजाना वॉक पर जाएं, जॉगिंग करें, संभव हो तो स्विमिंग (तैरना) व योग सीखें। व्यायाम करने और फिट रहने से मानसिक स्वास्थ्य बेहतर रहता है और जीवन में सकारात्मकता को बढ़ावा मिलता है। 

No comments