सरकारी नौकरी

यहां शादी के बाद दूल्हे को पीना पड़ता है खून, बारात के साथ लाते हैं सूअर


हर धर्म में शादी को लेकर अलग-अलग रस्में निभाई जाती है। किसी देश में तो ऐसे रिवाजों से शादी होती है कि सुनकर हंसी आ जाती है तो वहीं कुछ रस्में ऐसी भी होती है जिनके बारे में जानकर काफी हैरानी होती है। आज हम आपको भारत के आदिवासी समूह में निभाई जाने वाली एक ऐसी ही शादी की रस्म के बारे में बताने जा रहे हैं।

शादी में दूल्हे को पीना पड़ता है खून:

मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के अंदरूनी क्षेत्रों में रहने वाली गौंड जनजाति के लोग शादी के दौरान एक बहुत ही अनोखी परम्परा का निर्वाह आज भी किया जाता है। दरअसल, यहां विवाह तब तक सपन्न नहीं माना जाता जब तक दूल्हा किसी जानवर को मारकर उसका खून ना पी लें। 


बारात के साथ लाते हैं सूअर:

इस रस्म को निभाने के लिए दूल्हा के परिवार वाले बारात के साथ एक जिंदा सूअर भी लाते है। जब विवाह की सारी रस्मे, फेरे आदि हो जाते है तो दुल्हे साथ लाए हुए सूअर को मारकर सूअर के पैर से खून पीना होता है। इस रस्म को पूरा किए बिना विवाह अधूरा माना जाता है।


No comments