सरकारी नौकरी

वास्तु ज्ञान: कहीं दर्पण तो नहीं बन रहा आपकी Success की रूकावट


वास्तु शास्त्र में दर्पण को बहुत अहमियत दी गयी है। अगर एक दर्पण सही जगह न लगा हो तो आपको बहुत मुश्किलों का सामना करना पढ़ सकता है। अगर दर्पण को वास्तु शास्त्र के नियमो के अनुसार इस्तेमाल किया जाये तो जीवन में सुख और खुशियां आती है। अगर घर का वास्तु सही नहीं है तो घर में रहनेवालों को मुश्किलों का सामना करना पढ़ सकता है। 

बैडरूम में दर्पण:

# गोल और अंडाकार आकर के शीशे अपने घर में नहीं लगाने चाहिए। वास्तु के अनुसार घर के मुख्य द्वार के सामने शीशे नहीं होना चाहिए। ऐसा करने से घर की सारी सकारात्मक ऊर्जा घर के बहार चली जाएगी। 

# वास्तु के अनुसार बेडरूम में अगर शीशे किसी ड्रेसिंग टेबल में नहीं है तो यह ध्यान रखना जरूरी है की उस कमरे में रह रहे इंसान का कोई भी शरीर का हिस्सा शीशे में नहीं आना चाहिए। 

# अगर घर के खिड़की और दरवाज़े शीशे के है तो वो शीशा पारदर्शक नहीं होना चाहिए। 

# अगर आप बच्चों का कमरा सजा रहे तो वास्तु के अनुसार के अनुसार कभी भी उनके कमरे में लटकता हुआ शीशा नहीं होना चाहिए। 

No comments