सरकारी नौकरी

हमारे शास्त्रों के अनुसार इनके यहाँ कभी भूलकर भी ना करें भोजन


हमारे शास्त्रों में कई ऐसी चीजों का गुणगान किया गया है कि उनका जानना साधारण मनुष्य के लिए कठिन है। गरुड़ पुराण का अध्ययन सभी को करना चाहिए क्योंकि इसमें मृत्यु के बाद की घटनाओ, यम लोक, प्रेत लोक, और पूरी 84 लाख योनीयो के के बारे में बताया गया है और इसी के साथ इसमें आप कई मानव रुपी जीवन में उपयोगी बातों का ज्ञान ले सकते है।

इनके यहां कभी नहीं करना चाहिए भोजन:

# गरुड़ पुराण के अनुसार चरित्रहीन स्त्री के हाथ से बना हुआ भोजन हमें कभी नहीं करना चाहिए। यहां चरित्रहीन स्त्री का अर्थ यह है कि जो स्त्री स्वेच्छा से पूरी तरह अधार्मिक व्यव्हार करती है।

# गरुड़ पुराण में लिखा है हमें चोर के घर पर भी भोजन नहीं करना चाहिए जो की अपराधी सिद्ध हो गया हो तो हमें उसके घर का भोजन नहीं करना चाहिए।

# हमें किन्नरों के घर पर भी भोजन नहीं करना चाहिए, गरुड़ पूरण के अनुसर ऐसा माना जाता है कि इसको दान देने पर हमें अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है लेकिन इनके यहां भोजन नहीं करना चाहिए।

# गरुड़ पुराण में लिखा है अगर कोई व्यक्ति किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित है, या कोई व्यक्ति छूत के रोग का मरीज है तो उसके घर भी हमें भोजन नहीं करना चाहिए।

No comments