सरकारी नौकरी

अब ऑनलाइन ठगी के लिए अपनाए जा रहे है ये तरीके, ऐसे बचें


आजकल ऑनलाइन मार्केट बूम पर है। शॉपिंग ऑनलाइन ही करना पसंद इन दिनों लोग कपड़ों और घर के राशन से लेकर टीवी, फ्रिज आदि के लिए कर रहे हैं। लोगों की डिमांड को देखते हुए कई बड़ी-बड़ी कंपनियों ने अपने प्रोडक्ट को डायरेक्ट ई-कॉमर्स वेबसाइट्स पर ही लॉन्च कर रही हैं। ऐसे में कई प्रोडक्ट्स सिर्फ ऑनलाइन ही बिक रहे हैं। लेकिन इसी ऑनलाइन शॉपिंग कई तरह की ठगी भी हो रही है।

ठगी के लिए अपनाए जा रहे है ये तरीके:

आजकल कंपनियां अमेजन, फ्लिपकार्ट या स्नैपडील जैसी साईट के जरिेए अपने सामानों को लॉन्च करती हैं। इसके अलावा वो सामान कंपनी की अपनी वेबसाइट से ही मिल सकते हैं। लोगों के लिए घर बैठे मोबाइल पर इतनी वेरायटी के सामानों में से चुनाव करना बेहद आरामदायक हो जाता है। ऑनलाइन शॉपिंग का यह ट्रेंड जितना अच्छा दिखता है, उतना ही खतरनाक भी है। शॉपिंग के दौरान थोड़ी सी चूक आपको पूरी तरह लूट सकती है।

ये है बचने के तरीके:

ई-कॉमर्स वेबसाईट देश में 100 से भी ज्यादा चल रही हैं। इनमें से कुछ वेबसाइट से लोग अच्छी तरह परिचित हैं, जबकि कुछ ऐसी भी हैं जो केवल लोगों को धोखा देने का काम करती हैं। कई बार यहां प्रोडक्ट्स पर भारी डिस्काउंट दिखा कर लोगों को लुभाया जाता है। ऑर्डर करने पर पैसे तो कट जाते हैं, लेकिन सामान या तो नहीं पहुंचता या गलत सामान पहुंचता है। ऐसे में लोगों के पास पछताने के सिवा कोई विकल्प नहीं बचता है। 

ई-कॉमर्स वेबसाइट के अलावा आप अपने प्रोडक्ट को उसकी निर्माता कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट या ऐप पर भी खोजें। वहां उपलब्ध होने पर ही सामान को खरीदें। ऐसे में आपको बढ़िया सामान भी मिलेगा और पेमेंट भी सुरक्षित रहेगा।

पेमेंट करते वक्त शॉपिंग के दौरान जब आप अपने एटीएम कार्ड की जानकारियां डालते हैं, तो आपको save card details का ऑप्शन मिलता है। कई बार उसमें पहले से ही ok या yes पर टिक किया हुआ होता है। पेमेंट कंफर्म करने से पहले उस टिक को yes से हटा कर no सेलेक्ट कर लें। किसी भी तरह के ऑनलाइन फ्रॉड से बचने का सबसे आसान और सुरक्षित रास्ता है। 

अगर किसी सामान को ऑर्डर करने के दौरान कैश ऑन डिलीवरी की सुविधा मिलती है, तो आपको इसे ही चुनना चाहिए। इसमें पहले सामान आपके पास पहुंच जाता है, उसके बाद आपको कैश पेमेंट करना होता है। ऐसे में थोखाधड़ी का खतरा कम हो जाता है।

No comments