सरकारी नौकरी

ज्योतिष: इसलिए राम की पूजा से पहले किया जाता है हनुमान जी को याद


हनुमान जी को कलियुग का देवता माना गया है। भगवान राम के प्राकट्य दिवस के अवसर पर भक्तजन व्रतोपवास रखकर पूजन किया करते हैं। मान्यता है कि जो व्यक्ति निराहार रहकर रामनवमी का व्रत करता है, उसके सभी पाप दूर हो जाते हैं। यह व्रत करने से भक्ति और मुक्ति दोनों मिलती है।

हनुमान की करें पूजा

पूजन करते समय पहले हनुमान की पूजा करें। इसके बाद ही भगवान राम पूजन स्वीकार करते हैं। अगर संभव हो, तो भगवान राम को सीताफल चढ़ाएं, यह उन्हें बहुत प्रिय है। 

रक्त कमल के पूजन से भगवान राम प्रसन्न होते हैं। जो कन्या सौभाग्य और सुंदर पति पाना चाहती हैं, उन्हें सिंदूर, चूड़ी और आभूषण आदि से सीता जी का पूजन करना चाहिए।

No comments