सरकारी नौकरी

आजाद भारत में आज भी है एक ऐसा गाँव, जहाँ नहीं है कोई सड़क


भारत एक विकासशील देश है। जो पिछले कुछ समय से विकास किया है। लेकिन बिहार के भोजपुर जिले के परसा प्रखंड की स्थिति आज भी ऐसी है कि यहां बुनियादी सुविधाओं से लोग वंचित हैं। स्वतंत्रता के बाद आज देश में विकास की बात की जाती है, किन्तु यहां मूलभूत सुविधाएं लोगों को नहीं मिल रही है। परसा प्रखंड के अंतर्गत आने वाले दिघरा गांव के लोग आज भी बुनियाद सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं।

गाँव में नहीं है कोई सड़क:

किसी भी गांव के भविष्य और विकास के लिए सड़क और पानी सबसे बुनियादी सुविधाएं है। किन्तु गांव की हकीकत यह है कि यहां स्वतंत्रता के बाद से ही सड़क का निर्माण नहीं हुआ है। सरकार और क्षेत्र के जनप्रतिनिधि बुनियादी सुविधाओं का दावा करते हैं। नदी के किनारे बसे लोगों के लिए बारिश के वक़्त घर से निकलना दूभर हो जाता है।


जनता में है आक्रोश:

लोगों का आक्रोश जनप्रतिनिधियों के लिए भी है, जो चुनाव के वक़्त आते हैं और वोट मांगते हैं। बदले में मात्र आश्वासन देते हैं कि उनके लिए विकास का कार्य किया जाएगा। किन्तु कोई भी जनप्रतिनिधि पलट के देखने के लिए भी आज तक नहीं आया है।


No comments