सरकारी नौकरी

loading...

भाई के लिए राखी खरीदते समय इन खास बातों का रखें ध्यान, कैसा हो राखी का रंग


रक्षाबन्धन भाई-बहिन का पावन पर्व है। इस दिन हर बहन अपने भाई को राखी बांधती है। ऐसे में रक्षा करने और करवाने के लिए बांधा जाने वाला पवित्र धागा रक्षा बंधन कहलाता है और इस पवित्र धागे को हर बहन अपने भाई के कलाई पर बांधती है। ऐसे में यह पवित्र पर्व श्रावण शुक्ल पूर्णिमा को मनाया जाता है और इस बार 15 अगस्त को यह त्यौहार मनाया जाने वाला है।

इन बातों का रखें ध्यान:

रक्षासूत्र तीन धागों का होना चाहिए। इसी के साथ वह लाल पीला और सफेद होना चाहिए। वहीं अगर यह रंग नहीं है तो लाल और पीला धागा तो होना ही चाहिए। इसी के साथ रक्षासूत्र में चंदन लगा हो।

इस दिन थाल में रोली, चंदन, अक्षत, दही, रक्षा सूत्र और मिठाई रखें। इसके बाद घी का एक दीपक भी रखें, जिससे भाई की आरती करें।

अब रक्षा सूत्र और पूजा की थाल सबसे पहले भगवान को समर्पित करें और भाई को पूर्व या उत्तर की तरफ मुंह करवाकर बैठाएं। इसके बाद पहले भाई को तिलक लगाएं, फिर रक्षा सूत्र बांधें और फिर आरती करें।

अब उसके बाद मिठाई खिलाकर भाई की मंगल कामना करें और रक्षासूत्र बांधने के समय भाई तथा बहन का सर खुला नहीं होना चाहिए।

रक्षासूत्र बंधवाने के बाद माता-पिता और गुरु का आशीर्वाद लें, इसके बाद बहन को सामर्थ्य के अनुसार उपहार दें। काले वस्त्र तथा तीखा या नमकीन खाद्य न दें।

No comments