सरकारी नौकरी

loading...

गुप्त रोग या धातु रोग का इलाज कैसे करे, अपनाएं ये टिप्स


आजकल कई सेक्स रोग है जिनसे कई लोग पीड़ित है। अगर सेक्स न करने के बिना ही लिंग से सफ़ेद वीर्य की तरह या पानी की तरह धारा सी आती है इसी के कारण आपका विर्य की मात्रा कम होने लगती है और ये आपकी यौन समस्या बन जाती है।

धातु रोग होने के कारण :

इसी के कारण उनमे वासना भरी पड़ी है इसीलिए वो अकेले की अकेले कुछ न कुछ सोचते बैठते है लड़के तो खयाल ही खयाल में लड़की को या किसी आंटी से सेक्स के बारे में सोचते रहते है और लडकिया भी कई बार लड़के के लिंग के बारे मे सोच कर अपना पानी की धारा बहार निकाल देती है। इसी कारण उनको कई सारे प्रॉब्लम हो आगे बढ़कर सामना करना पड सकता है।


धात रोग के आयुर्वेदिक घरेलु उपाय:

तुलसी की जड़ को अच्छी तरह सुखाकर उसका चूर्णं बनाकर इस चूर्णं को एक ग्राम की  मात्रा में ले और एक ग्राम अश्‍वगंधा का चूर्णं में मिक्स कर के खाएं और ऊपर से दूध पी जाएं इससे आपको बहुत फायदा होगा।

इलायची के दाने और सेंकी हुई हींग की  लगभग तीन रत्‍ती चूर्णं को घी और दूध के साथ मिलकर पीने से पेशाब में धातु का स्राव बंद हो जाता है।

घर पर ही धात रोग से बचने के लिए आपको 2 चम्मच गिलोय के पत्तो का रस निकाल कर गिलोय के रस में 1 चम्मच शहद मिलाकर लेना चाहिए।


उड़द की दाल को पीसकर उसे खांड में भुन लिया जाए और खांड में मिलाकर खाएं तो भी जबरदस्त लाभ जल्दी ही मिलता है। उड़द की दाल सेक्‍स पॉवर बढ़ाने और उसकी समस्‍या को दूर करने में बहुत सहायक होती है।

रोज सुबह आंवले का जूस यानिकी आंवला का रस खली पेट 2 चम्मच आंवले के रस को शहद के साथ मिलाकर पिने से जल्द ही धात रोग ठीक होने लगता है।

No comments