सरकारी नौकरी

loading...

शादी के बाद विदाई के समय दुल्हन क्यों फेकती है चावल, वजह कर देगी हैरान


शादी की शुरूआत से लेकर अंत तक कई प्रकार की रीती रिवाजो एवं रस्मों को अदा किया जाता है। शादी के समय दूल्हे के द्वार पर आने पर द्वारचार की रस्म निभाई जाती है और दुल्हन की विदाई पर दुल्हन द्वारा चावल फेके जाते है और माता पिता के द्वारा इस चावल को एक झोली में इकठ्ठा किया जाता है इसके पीछे की वजह शायद हमे ना पता हो लेकिन ये रस्म बहुत ही जरूरी मानी जाती है और निभाई भी जाती है।

दुल्हन क्यों फेकती है चावल:

# शादी के दौरान जब दूल्हे का आगमन लड़की के घर पर होता है तो उस समय द्वार पर आने से पहले द्वार पूजा की जाती है। इस दौरान वधु एवं वधु पक्ष की ओर से लड़के पर चावल फेंके जाते हैं। जो दोनो के प्यार को दर्शाता है।


# जब बेटी अपने घर से विदा होती है तब मां की झोली में चावल डालकर जाती है। जिससे घर का भंड़ार घर की लक्ष्मी के जानें बाद भी भरा रहें। ऐसा आर्शिवाद के साथ वह लड़की घर से विदा होती है।

# इससे नए युगल जोड़े को संतान की प्राप्ति का सुख मिलता है, उनका भाग्य हमेशा उनका साथ देता है। भारत के अलावा अन्‍य देशों में लोगों का मानना है कि ऐसा करने से जीवन में खुशहाली और सुखसमृद्धि बनी रहती है।


# चावल फेकने का एक कारण यह भी होता है की जब बेटी विदा होकर अपने ससुराल जाती है तब वह अपने माता पिता को धन्यवाद देती है जो इतने प्यार से उसे पल पोसकर बड़ा किये और इतना प्यार दिया।

No comments