सरकारी नौकरी

loading...

गजब: हत्या के आरोप में पति और सास-ससुर है जेल में, ज़िंदा लौटी महिला!!


आजकल रोज अजीब ख़बरे सुनने को मिलती रहती है। ये मायके जा रही थी। रास्ते से गायब हो गई। हम लोग थाना में शिकायत किए। दो दिन बाद पुलिस को एक लाश मिली। इसी की लाश मानकर मुझ पर और मेरे माता-पिता पर हत्या का मुकदमा डाल दिया गया। जेल में बंद कर दिया। जुर्म कबूल करवाने के लिए पुलिस ने हमें बहुत मारा-पीटा। लेकिन अंत तक यही कहते रह गए कि वो लाश इसकी नहीं थी।

ज़िंदा लौटी महिला:

बिहार के सुपौल जिले में राघोपुर थाना क्षेत्र के बेरदह गांव के रहने वाले रंजीत पासवान अपनी पत्नी की तरफ देखकर ये बातें कह रहे थे। पुलिस की जांच रिपोर्ट के मुताबिक सोनिया यादव अपने ससुराल बेरदह से 24 मई 2018 को मायके जाने के लिए निकली थीं।

सोनिया की गुमशुदगी का मामला परिवारवालों ने दर्ज कराया था। पुलिस ने सोनिया के पिता की निशानदेही पर लाश के पहचान सोनिया के रूप में की। इसके बाद पति रंजीत, ससुर विशुन देव पासवान और सास गीता देवी पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया।

मानने को तैयार नहीं पुलिस:

आईपीसी की धारा 304 बी, 120 बी, 201/34 के तहत जेल गए रंजीत और उनके परिवार सहित कुल 8 लोगों पर हत्या के आरोप को सही बताया गया। इस दौरान पांच अभियुक्तों के फरार होने पर कुर्की जब्त करने का आदेश जारी हो गया। साढ़े पांच महीने बाद 21 नवंबर 2018 को सोनिया पुलिस के सामने खड़ी हो गई।

No comments