सरकारी नौकरी

loading...

अगर आप भी करती हैं सेक्स खिलौने का इस्तेमाल तो जानें क्या करें क्या ना करें


आजकल कई लोग सेक्स टॉयज का इस्तेमाल करते है। खिलौनें के पदार्थ पर ध्यान देंवैसे तो रबड़ और पी.वी.सी. से बने खिलौनें सबसे किफ़ायती होते हैं लेकिन इन्हें हर बार ढंग से विसंक्रमित करना पड़ता है क्यूंकि इनके छिद्रों में बैक्टीरिआ पनप सकते हैं। इनकी तुलना में सिलिकॉन और शीशे के खिलौनें अधिक सुरक्षित होते हैं।

इस्तेमाल से पहले क्या करें:

# खिलौनों के इस्तेमाल से यौन क्रिया में वृद्धि होना तो लाज़मी है लेकिन इनके साझाकरण और पुनः उपयोग के दौरान संक्रमण का प्रसार भी हो सकता है।

# विभिन्न प्रकार के सेक्स के खिलौनों में अलग-अलग मात्रा में फाटलैट्स किया जाता है। इन्हें प्रजनन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक पाया गया है और इनसे कैंसर का ख़तरा भी हो सकता है। इसलिए, अपने सेक्स खिलौने को खरीदने से पहले, यह सुनिश्चित करें कि पैकेजिंग पर फाटलैट्स की मात्रा कितनी है।


# खिलौनों का इस्तेमाल आमतौर पर भेदन के लिए किया जाता है। इसलिए बेहतर होगा कि आप एक अच्छा लुब्रीकेंट भी अपने आसपास रखें। लेकिन सही लुब्रीकेंट का चयन करना भी उतना ही महत्त्वपूर्ण है जितना कि सही यौन खिलौना चुनना।

इस्तेमाल से पहले क्या ना करें:

# एक ही तरह की वाइब्रेशनसेक्स के खिलौनों में वाइब्रेटर सबसे ज्यादा आनंददायक होते हैं। हमेशा ऐसे वाइब्रेटर का चुनाव करें जिसमे वाइब्रेशन बढ़ाने और कम करने के व्यापक विकल्प उपलब्ध हों जिससे कि आप उसको अपनी ज़रुरत के अनुसार इस्तेमाल कर सकें।

# अपने सेक्स खलौनों को किसी और के साथ इस्तेमाल करने से आपको यौन संचारित रोगों का ख़तरा हो सकता है, तब भी जब आप अपने जननांगो में इस्तेमाल के बाद इन्हें अपने साथी के जननांगो के साथ इस्तेमाल करें।


# अपने यौन खिलौनें की चौड़ाई के बारे में सावधान रहना महत्वपूर्ण है विशेषकर यदि यह एक बट-प्लग या एक डिल्डो है जो गुदा सेक्स के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। अधिक चौड़ाई से यौन क्रिया असुविधाजनक हो सकती है और खून भी निकल सकता है।

# 1.5 इंच की चौड़ाई आमतौर पर ठीक रहती है लेकिन फ़िर भी इस्तेमाल करने से पहले एक दूसरे से चर्चा करना महत्त्वपूर्ण है।

No comments