सरकारी नौकरी

loading...

शायद आप भी नहीं जानते होंगे महान पंडित रावण से जुडी ये अनसुनी बातें


आजकल दूरदर्शन पर रामायण का प्रसारण किया जा रहा है। रावण एक महान पंडित था। लेकिन कुछ बातें ऐसी है जिनका किसी को पता नहीं है। आप सभी को बता दें कि रावण के पिता ऋषि विश्वश्रवा थे। जिन्होंन ऋषि भारद्वाज की पुत्री से विवाह किया था। जिनसे कुबेर का जन्म हुआ। विश्वश्रवा की दूसरी पत्नी का नाम कैकसी था। जिनसे रावण, कुंभकरण, विभीषण और सूर्पणखा ने जन्म लिया।

पौराणिक कथाओं में इनके अतिरिक्त, अहिरावण, खर और दूषण भी रावण के भाई थे। केवल इतना ही नहीं सूर्पनखा के अतिरिक्त उसकी एक ओर बहन थी जिसका नाम कुम्भिनी था। कहा जाता है कुंभिनी का विवाह मथुरा के राजा मधु राक्षस से हुआ था और कुंभिनी राक्षस लवणासुर की मां थी।

अपने समय में रावण अत्याचारी था और उसके लिए रिश्ते भी कोई अर्थ नहीं रखते थे। वहीं रावण ने अपने भाई कुबेर को बेदखल सोने की लंका पर कब्जा कर लिया और कुबेर को निकाल दिया।

रावण की पहली पत्नी मंदोदरी थी लेकिन इसके अतिरिक्त भी रावण की दो अन्य पत्नियां भी थीं। रावण की दूसरी पत्नी का नाम धन्यमालिनी और तीसरी पत्नी का नाम अज्ञात है। रावण ने अपनी तीसरी पत्नी की हत्या कर दी थी और रावण की पहली पत्नी मंदोदरी राक्षसराज मयासुर की पुत्री थी।

रावण के इंद्रजीत, मेघनाद, महोदर, प्रहस्त और विरुपाक्ष भीकम वीर नाम के पुत्र थे जो मंदोदरी से पैदा हुए थे। वहीं धन्यमालिनी से अतिक्या और त्रिशिरार नाम के दो पुत्र थे और तीसरी पत्नी के प्रहस्था, नरांतका और देवताका नामक पुत्र थे। रावण को एक भी बेटी नहीं हुई थी।

No comments