सरकारी नौकरी

loading...

बोर्ड एग्जाम: अब 15 हजार केंद्रों पर होंगी 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं


सीबीएसई 10वीं और 12वीं की शेष रह गई बोर्ड परीक्षाओं के लिए डेटशीट जारी की चुकी है। देशभर में दसवीं और बारहवीं कक्षा कि यह बोर्ड परीक्षाएं 15 हजार से अधिक परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जाएंगी। पहले के मुकाबले परीक्षा केंद्रों की संख्या में 5 गुना से अधिक का इजाफा किया गया है। ऐसा इसलिए किया गया है, ताकि परीक्षा केंद्रों पर अधिक भीड़ न हो और छात्र सुरक्षा एवं सहजता के साथ अपनी परीक्षाएं दे सकें।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, "सीबीएसई ने पहले सिर्फ 3 हजार परीक्षा केंद्र चिह्नित किए थे, लेकिन अब लगभग 15 हजार परीक्षा केंद्रों में परीक्षा होगी।" यानी बोर्ड परीक्षाओं के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या में पांच सौ प्रतिशत की वृद्धि की गई है।

दरअसल परीक्षाओं के दौरान छात्रों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग सबसे बड़ा उपाय होगा। अभिभावकों को अपने बच्चों के संबंध में आवश्यक जानकारी भी सीबीएसई को उपलब्ध करानी होगी।


सीबीएसई के कंट्रोलर ऑफ एग्जाम डॉक्टर संयम भारद्वाज ने डेटशीट के साथ निर्देश जारी करते हुए कहा "बोर्ड परीक्षाओं के दौरान सभी छात्रों को परीक्षा केंद्र में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा।"

बोर्ड परीक्षाओं के विषय पर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, "स्कूली शिक्षा के लिए एक विशेष टास्क फोर्स बनाई गई है जिसने अपना काम लगभग लगभग पूरा कर लिया है। यह तय किया जाएगा कि कब किन तरीकों से छात्र कहां पर परीक्षा केंद्र में आएंगे।"

मंत्रालय एवं सीबीएसई ने तय किया है कि छात्रों के विद्यालयों में ही परीक्षा आयोजित की जाएगी। कंटेनमेंट जोन अथवा अन्य किसी कारण से जिन विद्यालयों में परीक्षा नहीं ली जा सकेगी उनके समीप के विद्यालयों में बोर्ड परीक्षा की व्यवस्था की जा सकती है। परीक्षा केंद्रों में पहले के मुकाबले काफी कम छात्रों को बैठने की अनुमति होगी। शेष छात्र दूसरे कमरों में परीक्षा देंगे। छात्रों के बीच में कम से कम पांच, छह फीट की दूरी रखी जाएगी। ऐसा करने के लिए 2 छात्रों के बीच में एक-दो डेस्क खाली रखे जाएंगे।


इसी प्रकार परीक्षा केंद्र में प्रवेश पाने के उपरांत सभी छात्र अपने हाथों को सैनिटाइज करेंगे। नाक और मुंह पूरी परीक्षा के दौरान ढंक के रखना अनिवार्य किया गया है। परीक्षा केंद्र में सैनिटाइजर की व्यवस्था छात्रों को स्वयं करनी होगी। परीक्षा केंद्र के बाहर भी छात्रों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा।

लिखित दिशानिर्देश जारी करते हुए संयम भारद्वाज ने कहा "छात्रों को ट्रांसपेरेंट बोतल में सैनिटाइजर लाना होगा। इसके साथ ही छात्रों के किसी भी प्रकार से अस्वस्थ होने की स्थिति में अभिभावकों को अपने बच्चों के बारे में सूचना प्रदान करवानी होगी।"

No comments