सरकारी नौकरी

loading...

यहाँ अपनी ही बेटियों पर नहीं होता है पेरेंट्स को भरोसा, करवाते है कौमार्य टेस्ट


आजकल समाज में वर्जिनिटी एक अहम मुद्दा बन गया है। स्वीडन में धार्मिक परिवार अपनी बेटियों का वर्जिनिटी टेस्ट यानी कौमार्य परीक्षण करवाते हैं। ऐसा वह यह जानने के लिए करवाते  हैं कि कहीं उनकी लड़कियों ने किसी के साथ यौन संबंध तो नहीं बनाए हैं। यह खुलासा हुआ है पत्रकारों के एक स्टिंग ऑपरेशन में। स्टिंग ऑपरेशन में खुलासा हुआ कि कुछ डॉक्टर लड़कियों की इच्छा के बिना उनका वर्जिनिटी टेस्ट कर रहे हैं।

पेरेंट्स करवाते है कौमार्य टेस्ट:

डेलीमेल ऑनलाइन की रिपोर्ट के अनुसार, धार्मिक विचारों वाले परिवार यह जानने के लिए ,क्या कभी उनकी बेटियों ने किसी के साथ यौन संबंध तो नहीं बनाए हैं, उनका वर्जिनिटी टेस्ट करवा रहे हैं। स्वीडन के 'कोल्ड फैक्ट' नामक टीवी कार्यक्रम में दिखाया गया कि कुछ महिला रिपोर्टर्स लड़कियों की आंटी बनकर डॉक्टरों के पास जाती हैं और उनसे अपनी बेटियों का कौमार्य परीक्षण करने के लिए कहती हैं। लड़कियों की इच्छा के खिलाफ व विरोध के बीच डॉक्टर उनके वर्जिनिटी टेस्ट व सर्टिफिकेट जारी करने के लिए राजी भी हो जाता हैं।


स्वीडन के कानून के अनुसार, यदि डॉक्टरों को लगता है कि किसी बच्चे को सोशल वेलफेयर ऑथॉरिटी के संरक्षण की जरूरत है, तो उसे पुलिस या सोशल सर्विस को सूचित करना पड़ता है। एक डॉक्टर ने तो वीडियो में दावा किया है कि उसने सैकड़ों लड़कियों का वर्जिनिटी टेस्ट किया है।

No comments