सरकारी नौकरी

loading...

दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव केस 70 हजार के पार, 2365 लोगों की हुई मौत


दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 70 हजार से अधिक हो गई है। बीते 24 घंटे के दौरान ही दिल्ली में 3788 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इन्हीं 24 घंटों में दिल्ली के अंदर कोरोना वायरस से 64 व्यक्तियों की मृत्यु भी हुई है।

दिल्ली कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच उपराज्यपाल अनिल बैजल ने गृह विभाग के प्रिंसिपल सेकट्ररी होम बीएस भल्ला को राजधानी में कोरोना मैनेजमेंट के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया।

दिल्ली सरकार ने कहा, "दिल्ली में कोरोना वायरस से अभी तक 2365 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है। कुल 70,390 व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इन कोरोना रोगियों में से अभी तक 41,437 रोगी स्वस्थ हुए हैं। बीते 24 घंटे के दौरान ही 2124 कोरोना संक्रमित व्यक्ति स्वस्थ हुए हैं। दिल्ली में फिलहाल 26,588 एक्टिव कोरोना संक्रमित व्यक्ति हैं। इनमें से 14,844 रोगियों का उपचार उनके घर पर ही किया जा रहा है। इन सभी को होम आइसोलेशन में रखा गया है।"


दिल्ली के अंदर बीते 24 घंटे के दौरान 19059 कोरोना टेस्ट किए गए। इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना हॉटस्पॉट की संख्या बढ़कर 266 हो गई है। मंगलवार तक यह संख्या 261 थी।

कोरोना रोगियों के उपचार को लेकर दिल्ली सरकार ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को एक पत्र लिखा है। इसमें कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति को क्वारंटाइन सेंटर में जाकर चेकअप कराने का नियम वापस लेने की मांग की गई है।

दिल्ली सरकार का मानना है कि स्वयं प्रशासन और स्वास्थ्य कर्मी संक्रमित व्यक्ति के घर जाकर उसका चेकअप करें। दिल्ली सरकार ने यह नियम लागू करने के लिए उपराज्यपाल से दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की बैठक बुलाने की मांग भी की है।


दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया मनीष सिसोदिया ने कहा, "यह कैसा नियम है जिसके तहत कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया तो उसे खुद क्वॉरंटाइन सेंटर में जाना होगा। यदि वह नहीं गया तो पुलिस उसे लेकर जाएगी ऐसे नियम से लोगों में काफी भय व्याप्त है। दिल्ली में प्रतिदिन तीन हजार से अधिक लोग कोरोना संक्रमित हो रहे हैं। ऐसे में उन्हें क्वॉरंटाइन सेंटर पर जाकर लंबी लाइन में खड़ा होना पड़ेगा। जहां उनकी तबीयत और खराब होगी साथ ही अन्य लोग भी संक्रमित होंगे।"

No comments