सरकारी नौकरी

loading...

छात्रों को यौन उत्पीड़न, हिंसा, असुरक्षित स्पर्श से बचाने के लिए मिलेगा 'परामर्श'


सुरक्षित-असुरक्षित स्पर्श, यौन उत्पीड़न, घरेलू हिंसा, माता-पिता और मित्रों का दबाव एवं भावनात्मक उतार-चढ़ाव के तनाव से उबरने में दिल्ली सरकार लोगों की मदद करेगी। खास तौर पर सरकार ने छात्रों के लिए युवा हेल्पलाइन 'परामर्श' सेवाओं का विस्तार करने का फैसला लिया है। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, "कोविड-19 महामारी के कारण लोगों का शारीरिक आवागमन सीमित हो गया है। रोजगार के क्षेत्र में कई तरह से नुकसान पहुंचा है। इसलिए लोगों को मानसिक स्वास्थ्य के बारे में उनकी मदद करने के लिए दिल्ली सरकार ने यह फैसला लिया है।"

दिल्ली के सभी नागरिक, विशेष रूप से छात्रो, जो शैक्षिक, भावनात्मक, मनोवैज्ञानिक, व्यक्तिगत मुद्दों पर मदद चाहते हैं, वे इन टोल-फ्री नंबरों 1800116888 पर या 10580 पर सहायता प्राप्त करने के लिए कॉल कर सकते हैं। युवा हेल्पलाइन पर सभी कार्य दिवसों पर प्रात: 7.30 बजे से रात 8.30 बजे तक मदद प्राप्त की जा सकती है।


दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय के मुताबिक दिल्ली के सभी नागरिक, विशेषकर छात्रों, जो स्ट्रीम (कला, विज्ञान, वाणिज्य, व्यावसायिक आदि) के चयन में शैक्षिक, भावनात्मक, मनोवैज्ञानिक, व्यक्तिगत मुद्दों पर मार्गदर्शन और मदद चाहते हैं। इसके अलावा, कैरियर की जानकारी, शारीरिक छवि से संबंधित मिथक, रिश्तो में समायोजन, माता-पिता और मित्रों का दबाव, भावनात्मक उतार-चढ़ाव, सुरक्षित-असुरक्षित स्पर्श, यौन उत्पीड़न, घरेलू हिंसा, मादक द्रव्यों के सेवन, अनावश्यक तनाव, चिंता, डर इत्यादि से मुकाबला करने के लिए परामर्श चाहते हैं। वे टोल फ्री नंबर 1800116808 या 10580 पर कॉल कर मदद ले सकते हैं।


काउंसलिंग के लिए कोई भी किसी कार्य दिवस में सुबह 7.30 से रात 8.30 बजे तक कॉल कर सकता हैं। कॉल करने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाएगी।

No comments