सरकारी नौकरी

loading...

स्वदेसी ऐप चिंगारी ने सीड फंडिंग में जुटाए करीब 10 करोड़ रुपये


हाल ही में कोरोना और LAC पर बढ़ते तनाव को देखकर भारत ने चीन के खिलाफ कई कदम उठाये है जिनमे एप बैन करना एक महत्वपूर्ण और चीन को हिलाकर रख देने वाला है। इसी बीच देश में चीन विरोधी भावना के बीच टिकटॉक के विकल्प के तौर पर प्रमुखता से उभरकर सामने आई स्वदेशी शॉर्ट वीडियो-शेयरिंग एप चिंगारी ने करीब 10 करोड़ रुपये का फंड जुटाया है।

कई निवेशक शामिल है शामिल:

चिंगारी को यह फंडिंग सीड राउंड में मिली है, जिसमें एजेंललिस्ट इंडिया, उत्सव सोमानी की आईसिड, विलेज ग्लोबल, लॉगएक्स वेंचर और नाउफ्लॉट्स के जसमिंदर सिंह गुलाटी जैसे निवेशक शामिल हैं। कंपनी ने रविवार को एक बयान में कहा कि प्रमुख तौर पर इस फंड का इस्तेमाल नई भर्ती और उत्पाद विकास (प्रोडक्ट डेवलपमेंट) के लिए किया जाएगा। चिंगारी एप अब अपने प्लेटफॉर्म की पहुंच को बढ़ाने और इसे उपभोक्ता केंद्रित बनाने पर जोर दे रही है।

चिंगारी के पास 2.5 करोड़ यूजर्स का आधार:

चिंगारी एप के सह-संस्थापक एवं सीईओ सुमित घोष ने कहा, हमें खुशी है कि निवेशकों ने हमारे काम को सराहा और चिंगारी की इस यात्रा में साथ चलने का फैसला किया। चिंगारी एप ने कहा कि उसके पास 2.5 करोड़ उपयोगकर्ता (यूजर्स) का आधार है और इनमें से 30 लाख लोग ऐसे हैं जो इसके सक्रिय (एक्टिव) उपयोगकर्ता हैं और वह दैनिक तौर पर एक्टिव रहते हैं।

No comments