सरकारी नौकरी

loading...

हाई ब्लड शुगर और इंफेक्शन की समस्या में फायदेमंद है इमली का सेवन

इमली एक तरह का फल है। कच्ची इमली हरे रंग की होती है और पकने के बाद यह लाल रंग में बदल जाती है। स्वाद में खट्टी-मीठी होने की वजह से इसका इस्तेमाल अधिक किया जाता है। कच्ची इमली स्वाद में काफी खट्टी होती है, वहीं पक जाने के बाद इसमें थोड़ी मिठास भी घुल जाती है।  इमली में मौजूद पोषक तत्व, ह्रदय, त्वचा, बाल, मोटापा और पेट संबंधी कई बीमारियों का समाधान करने में उपयोगी होती है।

ये हैं इमली के फायदे:

# इमली के औषधीय गुण तंत्रिका तंत्र में सुधार कर दिल की धड़कन को नियंत्रित करने का काम करते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक, इमली में कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

# इमली में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जिनमें इन्फेक्शन को रोकने, दर्द कम करने, प्रतिरोधक क्षमता को सक्रीय करने और ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने वाले गुण मौजूद होते हैं।

# इमली के बीज में ट्रिप्सिन इन्हिबिटर गुण पाया जाता है जो प्रोटीन को बढ़ाने और नियंत्रित करने के काम आता है। यह हृदय रोग, हाई ब्लड शुगर, हाई-केलेस्ट्रोल, हाई-ट्रिगलीसिराइड और मोटापा को दूर करने में सहायक साबित हो सकता है।

# इमली में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो पाचन में सहायक डाइजेस्टिव जूस को प्रेरित करने का काम करते हैं। इस वजह से पाचन क्रिया पहले से बेहतर तरीके से काम करने लगती है।

# यहां तक कि इमली पीलिया और लिवर की बीमारियों से बचाने में भी काफी फायदेमंद साबित होती है। कारण यह है, कि इमली में एंटीऑक्सिडेंट और हेप्टोप्रोटेक्टिव प्रभाव पाए जाते हैं।

No comments