सरकारी नौकरी

loading...

कोविड-19: प्राइवेट स्कूल सिर्फ ट्यूशन फीस ही ले सकेंगे, सरकार ने अतिरिक्‍त शुल्‍क पर लगाई रोक

इस कोरोना काल में बेरोजगारी चरम पर है। कई लोगों को बहुत मुश्किल के दौर से गुजरना पड़ रहा है। हाल ही में कोविड-19 की स्थिति को ध्यान में रखते हुए उपमुख्यमंत्री  मनीष सिसोदिया के अधीन आने वाले शिक्षा विभाग ने निजी-सहायता प्राप्त स्कूलों को निर्देश दिया है कि वे कोविड-19 की अवधि के दौरान केवल ट्यूशन फीस ही लें। अब दिल्ली सरकार के ताजा आदेश से निजी स्कूलों को यथास्थिति बनाए रखने का निर्देश दिया है।

ट्यूशन फीस ही ले सकेंगे स्कूल:

लॉकडाउन अवधि के दौरान माता-पिता को सभी निजी-सहायता प्राप्त, मान्यता प्राप्त स्कूलों को ट्यूशन फीस के अलावा कोई शुल्क नहीं देना है। वार्षिक और विकास शुल्क माता-पिता से लिया जा सकता है, वह लॉकडाउन की अवधि पूरी होने के बाद केवल मासिक आधार पर ले सकते हैं। जैसे कि परिवहन शुल्क आदि माता-पिता से शुल्क नहीं लिया जाएगा। किसी भी स्थिति में, स्कूल माता-पिता या छात्रों से परिवहन शुल्क की मांग नहीं करेंगे।

2020-21 में नहीं बढ़ाया जाये कोई शुल्क:

आदेश में आगे निर्देश दिया गया है कि शैक्षणिक सत्र 2020-21 में किसी भी शुल्क को बढ़ाया नहीं जाएगा, किसी भी शुल्क वृद्धि से पहले निदेशक शिक्षा की मंजूरी लेनी होगी। वहीं, डीडीए की भूमि पर चल रहे स्कूल उपर्युक्त शुल्क को निदेशक शिक्षा द्वारा अनुमोदित अंतिम शुल्क संरचना के आधार पर एकत्र करेंगे। स्कूल बिना किसी भेदभाव के सभी छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा सामग्री या कक्षाएं प्रदान करेंगे। स्कूलों को शिक्षण सामग्री तक ऑनलाइन पहुंच के लिए आईडी और पासवर्ड प्रदान करना होगा।

No comments