सरकारी नौकरी

loading...

बरसात के मौसम में बढ़ रहा वायरल इंफेक्शन का खतरा, ऐसे करें इलाज

बरसात के मौसम में कई तरह की बीमारियां जन्म ले लेती हैं। इन बीमारियों में सर्दी, जुखाम, मौसमी बुखार आदि प्रमुख है। अगर बदलते मौसम में आप भी वायरल इंफेक्शन का शिकार हो जाते हैं, तो आप घर बैठे आयुर्वेदिक तरीके से इससे निजात पा सकते हैं। ऐसे में हम आपको बदलते मौसम में वायरल इंफेक्शन से बचने के वो घरेलु नुस्खे बता रहे हैं, जो आपको बीमारियों से दूर रखेंगे।

वायरल इंफेक्शन को दूर करने में सहायक है ये उपाय:

आयुर्वेद में अनेक औषधियां हैं, जिनमें एक गिलोय है। यह वायरल इंफेक्शन को दूर करने में सहायक हो सकता है। आप इसका उपयोग दवा के रूप में कर सकते हैं

आयुर्वेद विशेषज्ञों का मानना है कि अगर तेज़ बुखार हो और कई दिनों से बुखार ठीक न हो रहा हो तो गिलोय की पत्तियों का काढ़ा पीने से बुखार में आराम मिलता है। जब कभी आप गिलोय का सेवन करें तो एक बार डॉक्टर अथवा आयुर्वेद विशेषज्ञ की जरूर सलाह लें।

इसके सेवन से इम्यून सिस्टम भी मजबूत होती है, इसलिए इस काढ़ा को पावर ड्रिंक भी कहा जाता है। बता दें कि गिलोय एक लता होती है और यह दिखने में पान के पत्ते जैसी होती है।

वायरल इंफेक्शन को दूर करने में पपीते के पत्तों का जूस भी फायदेमंद है। इस जूस के सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत होती है, जिससे बुखार में आराम मिलता है। इसका दिन भर में दो से तीन बार सेवन कर सकते हैं।

No comments